Trending - Holi

Friday | Army | Attitude | Congratulations 🎉 | Good Morning 🌞 | Good Night 😴 | Love 💕 | Motivational 🔥 | Rain 🌧️ | Sad 😢 | Name On Cake 🎂


Home Zindagi Shayari Dard Bhari Zindagi Sad Shayari

Dard Bhari Zindagi Sad Shayari in Hindi - दर्द भरी जिंदगी सैड शायरी इन हिंदी

Share :


आँखों को अश्क का पता न चलताआँखों को अश्क का पता न चलता,
दिल को दर्द का एहसास न होता,
कितना हसीन होता जिंदगी का सफ़र,
अगर मिलकर कभी बिछड़ना न होता।

मंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लियामंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लिया,
जिंदगी तेरी जरूरत नहीं मुझे हादसों ने पाल लिया।

लो आज हमने छोड़ दिया रिश्ता ए उमीदलो आज हमने छोड़ दिया रिश्ता ए उमीद,
लो अब कभी किसी से गिला ना करेगे हम,
पर जिंदगी मे मिल गये इत्तेफ़ाक से
पुछेगे अपना हाल तेरी बेबसी से हम।

रफ़्तार कुछ इस कदर तेज़ हुई है जिन्दगी कीरफ़्तार कुछ इस कदर तेज़ हुई है जिन्दगी की,
कि सुबह का दर्द शाम को पुराना हो जाता है।

ए ज़िन्दगी इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रियाए ज़िन्दगी, इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया,
चलने का न सही सम्भलने का हुनर तो आया।

ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में होज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।

ज़िन्दगी लोग जिसे मरहम-ए-ग़म जानते हैज़िन्दगी लोग जिसे मरहम-ए-ग़म जानते है,
जिस तरह हम ने गुज़ारी है वो हम जानते है।

कुछ आग आरज़ू की उम्मीद का धुआँ कुछकुछ आग आरज़ू की, उम्मीद का धुआँ कुछ,
हाँ राख ही तो ठहरा अंजाम ज़िन्दगी का।

रोज़ दिल में हसरतों को जलता देखकररोज़ दिल में हसरतों को जलता देखकर,
थक चुका हूँ ज़िन्दगी का ये रवैया देखकर।

शायद यही ज़िंदगी का इम्तिहान होता हैशायद यही ज़िंदगी का इम्तिहान होता है,
हर एक शख्स किसी का गुलाम होता है,
कोई ढूंढता है ज़िंदगी भर मंज़िलों को,
कोई पाकर मंज़िलों को भी बेमुकाम होता है।

कदम कदम पे नया इम्तिहान रखती हैकदम कदम पे नया इम्तिहान रखती है,
ज़िन्दगी तू भी मेरा कितना ध्यान रखती है।

वो हर बार अगर चेहरा बदल कर न आया होतावो हर बार अगर चेहरा बदल कर न आया होता,
धोखा मैंने उस शख्स से यूँ न खाया होता,
रहता अगर याद कर मुझे लौट के आती नहीं,
ज़िन्दगी फिर मैंने तुझे यूं न गंवाया होता।

कभी ख़िरद कभी दीवानगी ने लूट लियाकभी ख़िरद कभी दीवानगी ने लूट लिया,
तरह तरह से हमें ज़िंदगी ने लूट लिया।

दुखो के बोझ में ज़िन्दगी कुछ इस तरह डूबे जा रही हैदुखो के बोझ में ज़िन्दगी कुछ इस तरह डूबे जा रही है,
की मेरी हर एक चाहत, हर एक आस टूटे जा रही है।

मैं मेरी तन्हाई मेरे ये गम और मेरे ये हालतमैं, मेरी तन्हाई,
मेरे ये गम और मेरे ये हालत,
बहुत कुछ बदल गया मेरी ज़िन्दगी में,
एक तेरे जाने के बाद।

उजड़े हुए ज़माने की याद दिला कर मुझे उदास न कर ऐ ज़िन्दगीउजड़े हुए ज़माने की याद दिला कर,
मुझे उदास न कर ऐ ज़िन्दगी,
अब नईं मंज़िलों का पता बता,
जो गुजर गया सो गुजर गया।

कैसे बदलते है लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया अपने परायों की पहचान को आसान बना दियाकैसे बदलते है लोग,
चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

कैसे बदलते है लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दियाकैसे बदलते है लोग,
चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

अब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती हैअब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती है,
सांस लेता हूँ तो ज़ख्मों को हवा लगती है,
कभी राजी तो कभी मुझसे खफा लगती है,
जिंदगी तू ही बता तू मेरी क्या लगती है।

हजारों ख़ुशियाँ कम है एक गम भुलाने के लिएहजारों ख़ुशियाँ कम है,
एक गम भुलाने के लिए,
एक गम ही काफी है,
जिंदगी भर रुलाने के लिए।

जब भी सुलझाना चाहा ज़िंदगी के सवालों को मैंनेजब भी सुलझाना चाहा,
ज़िंदगी के सवालों को मैंने,
हर एक सवाल में जिंदगी
मेरी उलझती चली गई।

उम्र छोटी है तो क्या  ज़िंदगी का हर एक मंज़र देखा हैउम्र छोटी है तो क्या,
ज़िंदगी का हर एक मंज़र देखा है,
फरेबी मुस्कुराहटें देखी है,
बगल में खंजर भी देखा है।

कर दिया मैंने भी जिंदगी को ऐसे बर्बादकर दिया मैंने भी जिंदगी को ऐसे बर्बाद,
जैसे जिंदगी ने मुझे बर्बाद किया था।

तंग आ चुके है कश्मकश ए ज़िंदगी से हमतंग आ चुके है कश्मकश ए ज़िंदगी से हम,
ठुकरा न दें जहाँ को कहीं बे दिली से हम,
लो आज हमने छोड़ दिया रिश्ता ए उमीद,
लो अब कभी किसी से गिला ना करेगे हम।

छोड़ ये बात कि मिले ज़ख़्म कहाँ से मुझकोछोड़ ये बात कि मिले ज़ख़्म कहाँ से मुझको,
ज़िंदगी इतना बता कितना सफर बाकी है।

अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहटअब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट,
हो गया है ज़िंदगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा।

ज़िन्दगी कभी आसान नही होती इसे आसान करना पड़ता हैज़िन्दगी कभी आसान नही होती,
इसे आसान करना पड़ता है,
कुछ नजर अंदाज करके कुछ को बर्दास्त करके।

नफरत सी होने लगी है इस सफ़र से अबनफरत सी होने लगी है इस सफ़र से अब,
ज़िंदगी कहीं तो पहुँचा दे खत्म होने से पहले।

ज़िन्दगी एक फूल है तो मोहब्बत उसकी खुशबूज़िन्दगी एक फूल है तो मोहब्बत उसकी खुशबू,
प्यार एक दरिया है तो महबूब उसका साहिल,
अगर ज़िन्दगी एक दर्द है तो दोस्त उसकी दवा।

जिंदगी को अगर बेहतर बनाना है तोजिंदगी को अगर बेहतर बनाना है तो,
दर्द को छुपाना होगा और गम में मुस्कुराना सीखना होगा।




Categories