Trending - Holi

Tuesday | Army | Attitude | Congratulations 🎉 | Good Morning 🌞 | Good Night 😴 | Love 💕 | Motivational 🔥 | Rain 🌧️ | Sad 😢 | Name On Cake 🎂


Home Navratri Status Navratri Status in Hindi

Navratri Status in Hindi - नवरात्रि स्टेटस इन हिंदी

Share :


दूर की सुनती है माँ पास की सुनती हैदूर की सुनती है माँ, पास की सुनती है,
माँ तो आखिर माँ है, माँ तो हर मजबूर की सुनती है।

सारी रात माँ के गुण गाये माँ का ही नाम जपें सारी रात माँ के गुण गाये,
माँ का ही नाम जपें और माँ में ही खो जाए।

अम्बे है वो जगदम्बे है वो वो ही सरस्वती और अन्नपुर्णा हैअम्बे है वो, जगदम्बे है वो, वो ही सरस्वती और अन्नपुर्णा है,
उसकी शरण में न जाये बिना, जीवन बस एक तृष्णा है।

चाहे हो राजा या हो रंक बस चले आओ जयकारा लगाते हुएचाहे हो राजा, या हो रंक,
बस चले आओ जयकारा लगाते हुए, अम्बे देती है सबको शरण।

सारी रात माँ के गुण गायें माँ का ही नाम जपेंसारी रात माँ के गुण गायें,
माँ का ही नाम जपें, माँ में ही खो जाएँ।

ना कोई भेंट मांगे तुमसे ना कोई चढ़ावाना कोई भेंट मांगे तुमसे, ना कोई चढ़ावा,
माता रानी का दामन बस थाम लो, नवरात्री का शुभ पर्व है आया।

ना गिन कर दिया ना तोल कर दियाना गिन कर दिया ना तोल कर दिया,
जब भी दिया शेरोंवाली माँ ने, दिल खोल कर दिया।

जननी है वो तो वो ही काली दर पे उसके ना रहता किसी का दामन खालीरोशनी माँ तेरे प्यार की, पल पल महसूस करूं,
तुझसे है आस मेरी माँ, तभी तो करम करके धीरज धरूं।

जननी है वो तो वो ही कालीजननी है वो, तो वो ही काली,
दर पे उसके ना रहता, किसी का दामन खाली।

चलो शरण में जगदम्बे की चलते हैचलो शरण में जगदम्बे की चलते है,
पनाह देगी वो उनको भी, जो पाप की तपन से जलते है।

सुबह सुबह लो माँ का नामसुबह सुबह लो माँ का नाम,
पूरे होंगे अधूरे बिगड़े काम।

लोगों ने कुछ दिया तो सुनाया भी बहुत हैलोगों ने कुछ दिया तो सुनाया भी बहुत है,
हे माँ दुर्गे ! एक तेरा ही दर है जहाँ मुझे कभी ताना नहीं मिला।

जीवन को दोराहों से निकलने वालीजीवन को दोराहों से निकलने वाली,
सबकी बिगड़ी बनाने वाली, जय हो माँ शेरावाली।

आ जाओ सभी की आज जगरात्रि हैआ जाओ सभी, की आज जगरात्रि है,
माँ सुनेंगी हर पुकार, की आज नवरात्रि है।

दूर की सुनती है माँ पास की सुनती है माँदूर की सुनती है माँ, पास की सुनती है माँ,
माँ तो अखिर माँ है, माँ तो हर भक्त की सुनती है।

कितना भी लिखो इसके लिये कम हैकितना भी लिखो इसके लिये कम है,
सच ये है कि माँ तू है, तो हम है।

शेरों वाली मैया के दरबार में दुःख -दर्द मिटाये जाते हैशेरों वाली मैया के दरबार में दुःख -दर्द मिटाये जाते है,
जो भी दर पर आते है, शरण में लिए जाते है।

अच्छा होता कि माँ के भजनों में वक्त गुजारतेअच्छा होता कि माँ के भजनों में वक्त गुजारते,
बेहतर होता कि जीवन भर बस माँ को निहारते।

आंखे चाहे खोलूं या बंद करूंआंखे चाहे खोलूं या बंद करूं,
हर पल माता तेरा दर्श करूं।

सोचा करता था माँ तेरी कृपा बिना कैसे ज़रूरते होंगी पूरीसोचा करता था माँ तेरी कृपा बिना कैसे ज़रूरते होंगी पूरी,
तेरा आशीर्वाद मिला जो माँ तो नही रही कोई हसरत अधूरी।

माँ तेरी कृपा रही तो एक दिन अपना भी मुकाम होगामाँ तेरी कृपा रही तो एक दिन अपना भी मुकाम होगा,
70-80 लाख की Audi Car होगी, और Front शीशे पे माँ दुर्गा का नाम होगा।

शेरों वाली मैया के दरबार में दुःख-दर्द मिटाये जाते हैशेरों वाली मैया के दरबार में दुःख-दर्द मिटाये जाते है,
जो भी दर पर आते है, शरण में लिए जाते है।

मैं मैं ना रहा तू तू ना रहा सब अपने हो गएमैं मैं ना रहा, तू तू ना रहा, सब अपने हो गए,
माँ की नज़रों में जो देखा, सब सपने सच हो गए।

कुमकुम भरे कदमों से आये माँ दुर्गा आपके द्वारकुमकुम भरे कदमों से आये माँ दुर्गा आपके द्वार,
सुख संपत्ति मिले आपको अपार।

माता का पर्व आता है हज़ारो खुशिया लाता हैमाता का पर्व आता है, हज़ारो खुशिया लाता है,
इस बार माँ आपको वो सब दे, जो आपका दिल चाहता है।

मां तेरे चरणों मे जो थोड़ी सी जगह मिल जातीमां तेरे चरणों मे जो थोड़ी सी जगह मिल जाती,
मेरे तड़पते मन को भी थोड़ी राहत हो जाती।

ए माँ गुनाहों को मेरे मैं कुबूल करता हूँए माँ, गुनाहों को मेरे मैं कुबूल करता हूँ,
मोक्ष दे दे मेरी माँ, बस यही आशा रखता हूँ।

जय माता दी जय माता दी करता जाऊं शाम सवेरेजय माता दी, जय माता दी, करता जाऊं शाम सवेरे,
माता तुमने मिटा दिए सब जीवन के अंधेरे।

मुबारक हो सबको नवरात्रि का पर्वमुबारक हो सबको नवरात्रि का पर्व,
माता करेंगी सभी के जीवन मे हर्ष।

ना इसका है ना उसका है ना मेरा है ना तेरा हैना इसका है ना उसका है, ना मेरा है ना तेरा है,
कश्मीर की प्यारी वादी में, शेरोवाली का डेरा है।

शेर पर सवार होकर खुशियों का वरदान लेकरशेर पर सवार होकर, खुशियों का वरदान लेकर,
हर घर में विराजी अंबे माँ, हम सबकी जगदंबे माँ।

दरबार तेरा दरबारों में एक ख़ास अहमियत रखता हैदरबार तेरा दरबारों में, एक ख़ास अहमियत रखता है,
उसको वैसा मिल जाता है, जो जैसी नियत रखता है।

हे माँ तू शोक दुःख निवारीनी सर्व मंगल कारिनीहे माँ तू शोक दुःख निवारीनी, सर्व मंगल कारिनी,
चंड-मुंड विधारिनी, तू ही शुंभ-निशुंभ सिधारिनी।

लोगों ने कुछ दिया तो सुनाया भी बहुत है हे माँ दुर्गेलोगों ने कुछ दिया तो सुनाया भी बहुत है, हे माँ दुर्गे,
एक तेरा ही दर है जहाँ मुझे कभी ताना नहीं मिला।

बिन बुलाए भी जहां जाने को जी चाहता हैबिन बुलाए भी जहां जाने को जी चाहता है,
वो चौखट ही है तेरी माँ जहां यह बंदा सुकून पाता है।

सारा जहाँ है जिसकी शरण मेंसारा जहाँ है जिसकी शरण में,
नमन है उस माता के चरण में।

हर्षित हुआ मन पुलकित हुआ संसारहर्षित हुआ मन, पुलकित हुआ संसार,
नन्हें नन्हें कदमों से, माँ आये आपके द्वार।

आज तेरा जगराता माता आज तेरा जगराताआज तेरा जगराता माता, आज तेरा जगराता,
जगमग करती पावन ज्योति, हर कोई शीश झुकाता।

जननी है वो और वहीं है कालीजननी है वो, और वहीं है काली,
दर पे उसके ना रहता किसी का दामन खाली।

हमको था इंतजार वो घड़ी आ गयीहमको था इंतजार वो घड़ी आ गयी,
होकर सिंह पर सवार मेरी माता रानी आ गयी।

जगत पालनहार है माँ मुक्ति का धाम है माँजगत पालनहार है माँ, मुक्ति का धाम है माँ,
हमारी भक्ति का आधार है माँ, सबकी रक्षा की अवतार है माँ।

मैंने तेरा नाम लेकर ही सारे काम किये है माँमैंने तेरा नाम लेकर ही सारे काम किये है माँ,
और लोग समझते है कि, बंदा बहुत किस्मत वाला है।

मां का त्यौहार आ गया है अनगिनत खुशियां लाया हैमां का त्यौहार आ गया है, अनगिनत खुशियां लाया है,
हर मनोकामना पूरी हो आपकी, वर्दानी का आशीष छाया है।

हृदय पवित्र हो जाता है जब नवरात्रि आती हैहृदय पवित्र हो जाता है जब नवरात्रि आती है,
सारी दुनिया माँ के चरणों में शीश झुकाती है।

रूठी है तो मना लेंगे पास अपने उसे बुला लेंगेरूठी है तो मना लेंगे, पास अपने उसे बुला लेंगे,
मैया है दिल की भोली, बातों में उसे रिझा लेंगे।

हर युग में मुनि ज्ञानी देते सबको यह उपदेशहर युग में मुनि ज्ञानी देते सबको यह उपदेश,
जो माँ दुर्गा का मनन मन से करे उसके कटे कलेश।

मुझे अपनी भक्ति का वरदान दोमुझे अपनी भक्ति का वरदान दो,
दया अब करो माँ मुझे ज्ञान दो।

हमको था इंतजार वो घड़ी आ गईहमको था इंतजार वो घड़ी आ गई,
होकर सिंह पर सवार माता रानी आ गई।

तेरे जगत के भक्त जनों पर भीड़ पड़ी है भारीतेरे जगत के भक्त जनों पर भीड़ पड़ी है भारी,
इन दानव दल पर टूट पड़ो माँ कर के सिंह सवारी।




Categories